अब से लद्दाख का सफर बाइक से नहीं हेलीकॉप्टर से करिए पूरा, दोस्तों को भी बताइए इस नई सुविधा के बारे में

अब से लद्दाख का सफर बाइक से नहीं हेलीकॉप्टर से करिए पूरा, दोस्तों को भी बताइए इस नई सुविधा के बारे में:- नमस्कार मित्रों आज हम बात करेंगे अब से लद्दाख का सफर बाइक से नहीं हेलीकॉप्टर से करिए पूरा, दोस्तों को भी बताइए के बारे में अब आप अपनी लद्दाख की यात्रा को और भी रोमांचक बना सकते हैं, अब पर्यटकों के लिए केंद्र शासित देश लद्दाख के लिए हेलीकॉप्टर सेवाएं उपलब्ध कराई गई हैं। वैसे ये उन लोगों के लिए खुशी की बात है, जो हर साल बाइक से लद्दाख जाया करते थे, और उस दौरान खराब सड़कों को पार करना मुश्किल हो जाता था। हेलीकॉप्टर सेवा लद्दाख प्रशासन द्वारा चलाई जाती है और यह स्थानीय निवासियों और आने वाले पर्यटकों दोनों के लिए होगी। तो आइए हम जानते हैं इस आर्टिकल में विस्तार से.

कुछ बातों का ध्यान रखना होगा

  • सभी यात्रियों को बोर्डिंग के समय अपनी वैलिड फोटो फोटो आईडी कार्ड साथ रखना होगा
  • पीएनआर जनरेट होने के बाद यात्रियों के नाम बदलने की अनुमति नहीं होगी
  • एक सुरक्षित उड़ान के लिए वजन पर भी नियंत्रण है
  • ऐसे में हर यात्री से इस संबंध में कर्मचारियों के साथ सहयोग करने की उम्मीद की जाती है
  • कोई भी इन उड़ानों को सरकारी वेबसाइट heliservice.ladakh.gov.in पर बुक कर सकता है
  • पर्यटकों को यह भी सलाह दी जाती है
  • वे लेह पहुंचने के 48 घंटे से पहले ऊंचाई वाले क्षेत्रों की यात्रा न करें

लद्दाख से पहले इन जगहों पर भी थी हेलीकॉप्टर सेवा

  • अभी तक लेह, द्रास, कारगिल, पदुम, लिंगशेड, न्यारक और ज़ांस्कर के लिए हेलीकॉप्टर सेवा उपलब्ध है इन
  • जगहों तक ये सर्विस होने से लोगों का आना आसान बना हुआ है
  • पर्यटक भी इसकी मदद से ज्यादा जगहों तक पहुंच पाते हैं
  • इनमें से कुछ जगहें खराब सड़कों जैसी स्थितियों की वजह से पीछे रह गई थी
  • लेकिन हेलीकॉप्टर सर्विस के साथ अब इस समस्या का पूरा ख्याल रखा जाता है

लद्दाख में देखने के लिए जगह

  • पैंगोंग त्सो झील, ठिकसे मठ, खारदुंग-ला पास, मार्खा घाटी, नुब्रा वैली, त्सो मोरीरी झील कुछ यहां की देखने लायक जगहों में आते हैं
  • जिन्हें आप अपने लद्दाख ट्रिप पर देख सकते हैं

टिकट कब मिलेंगी

  • सबसे पहले, इस सेवा के लिए दो हेलिकॉप्टर हैं
  • एक पांच सीटर बी-3 हेलिकॉप्टर और एक एमआई-172 हेलिकॉप्टर प्रशासन ने यह भी शेयर किया है
  • हेलीकॉप्टर टिकट की उपलब्धता यात्रियों की संख्या, संचालन के संबंध में किसी भी प्रतिबंध और सबसे महत्वपूर्ण मौसम की स्थिति पर निर्भर करेगी

Conclusion:- मित्रों आज के इस आर्टिकल में अब से लद्दाख का सफर बाइक से नहीं हेलीकॉप्टर से करिए पूरा, दोस्तों को भी बताइए इस नई सुविधा के बारे में कभी विस्तार से बताया है। तो हमें ऐसा लग रहा है की हमारे द्वारा दी गये जानकारी आप को अच्छी लगी होगी तो इस आर्टिकल के बारे में आपकी कोई भी राय है, तो आप हमें नीचे कमेंट करके जरूर बताएं। ऐसे ही इंटरेस्टिंग पोस्ट पढ़ने के लिए बने रहे हमारी साइबारिश के मौसम में हर घुमक्कड़ को इन रोड ट्रिप का लुत्फ़ उठाना चाहिएट TripFunda.in के साथ (धन्यवाद)

Leave a Comment