दिल्ली का एक ऐसा गुरुद्वारा जहां के पानी से दूर हो जाता है हर रोग, आप भी फैमिली के साथ जाकर देखिए यहां

दिल्ली का एक ऐसा गुरुद्वारा जहां के पानी से दूर हो जाता है हर रोग, आप भी फैमिली के साथ जाकर देखिए यहां:- नमस्कार मित्रों आज हम बात करेंगे दिल्ली का एक ऐसा गुरुद्वारा जहां के पानी से दूर हो जाता है हर रोग, आप भी फैमिली के साथ जाकर देखिए के बारे में दिल्ली का गुरुद्वारा बंगला साहिब देश के सबसे बड़े सिख तीर्थस्थलों में से एक है। गुरुद्वारा राजधानी का सबसे बड़ा पर्यटक स्‍थल भी है। इसका निर्माण 1783 में सिख जनरल सरदार भगेल सिंह ने किया था। यह गुरुद्वारा सिखों के बड़े दिल वाले स्वभाव का एक उदाहरण है। यहां रोजाना हजारों की संख्या में श्रद्धालु आते हैं। इसके परिसर में एक प्रार्थना कक्ष, अस्‍पताल, स्‍कूल, संग्रहालय भी है। यहां आने वाले लोगों को प्रसाद मिलता है और समय-समय पर लंगर भी परोसा जाता है। यहां लगभग 24 घंटे तक चलने वाले पाठ और शब्द आपको सीधे दैवीय शक्ति से जोड़ते हैं। इन सबके अलावा हमारे पास मंदिर से जुड़े कुछ रोचक तथ्य हैं, जिनके बारे में आप यकीनन नहीं जानते होंगे। तो आइए हम जानते हैं इस आर्टिकल में विस्तार से.

गुरुद्वारा में 365 दिन तक चलता है

  • अगर आप कभी गुरुद्वारे गए हाें तो आपने देखा होगा
  • बंगला साहिब का हॉल इतना बड़ा है
  • इसे लंगर कहते हैं लंगर का खाना बेहद स्‍वादिष्‍ट होता है
  • यहां पर हर दिन 35 से 75 हजार लोग रोजाना लंगर खाते हैं
  • यहां पर बिना कोई चार्ज लिए मुफ्त में भोजन परोसा जाता है
  • कोई भी किचन में जाकर लंगर बनाने में मदद कर सकता है
  • इसमें एकसाथ 800-900 लोग बैठकर लंगर खा सकते हैं
  • लंगर रोज सुबह 5 बजे से शुरू होकर देर रात तक चलता है
  • यह किचन 365 दिन खुली रहती है

इस बंगले में 8वें सिख गुरु रहते थे

  • उस वर्ष लोगों में चेचक और हैजा की महामारी फैल गई थी
  • इस बंगले में सिखों के 8 वें गुरू गुरू हर कृष्ण रहते थे
  • लेकिन बाद में वह भी इस बीमारी से संक्रमित हो गए और उनकी मौत हो गई
  • आठवें सिख गुरु ने तब बंगले के एक कुएं से ताजा पानी देकर लोगों का उपचार करना शुरू किया
  • राजा जय सिंह ने तब इस बंगले को आठवें सिख गुरु को समर्पित किया

सबसे सस्ता डायग्नोस्टिक सेंटर

  • वर्षों से हजारों लोगों को खाना खिलाने के बाद अब यहां पर गरीबों को सस्ती स्वास्थ्य सेवा देने के लिए एक
  • सस्ता डायग्‍नोस्टिक सेंटर शुरू किया गया है
  • जो एमआरआई स्कैन प्राइवेट अस्पतालों में हजाराें का होता है
  • यहां पर लोगों से मात्र 50 रूपए लिए जाते हैं
  • डायग्नोस्टिक सेंटर ने एक किडनी डायलिसिस अस्पताल भी शुरू किया है
  • दिलचस्‍प और हैरान करने वाली बात है कि कॉम्प्लेक्स में कोई भी कैश या बिलिंग काउंटर नहीं है
  • मरीजों को यहां मुफ्त में भर्ती किया जाता है
  • दिल्ली के बाहर से आने वाले लोग गुरुद्वारे के कमरों में ठहर सकते हैं
  • लंगर हॉल में भोजन कर सकते हैं

मूल रूप से बंगला था बंगला साहिब

  • आज जिस जगह पर गुरु बंगला साहिब बना है
  • बहुत से लोग इसे सिखों का मंदिर ही समझते हैं
  • लेकिन असल में यह राजा जय सिंह का बंगला हुआ करता था
  • जिसे अब कनॉट प्‍लेस के नाम से जाना जाता है
  • उसे पहले जयसिंह पुरा कहा जाता था
  • वह 17वीं शताब्दी में एक शासक था। बंगले को जयसिंहपुरा पैलेस कहा जाता था

सरोवर में बीमारियों को ठीक करने के गुण

  • इस तालाब के पानी में बीमारी का उपचार करने के गुण हैं
  • दुनिया में जगह-जगह से सिख यहां आते हैं
  • तालाब से पानी लेते हैं, जिसे वे ‘अमृत’ भी कहते है
  • उनकी मौत के बाद राजा जय सिंह ने कुएं के ऊपर एक छोटा तालाब बनवाया

Conclusion:- मित्रों आज के इस आर्टिकल में दिल्ली का एक ऐसा गुरुद्वारा जहां के पानी से दूर हो जाता है हर रोग, आप भी फैमिली के साथ जाकर देखिए यहां के बारे में कभी विस्तार से बताया है। तो हमें ऐसा लग रहा है की हमारे द्वारा दी गये जानकारी आप को अच्छी लगी होगी तो इस आर्टिकल के बारे में आपकी कोई भी राय है, तो आप हमें नीचे कमेंट करके जरूर बताएं। ऐसे ही इंटरेस्टिंग पोस्ट पढ़ने के लिए बने रहे हमारी साइबारिश के मौसम में हर घुमक्कड़ को इन रोड ट्रिप का लुत्फ़ उठाना चाहिएट TripFunda.in के साथ (धन्यवाद)

Leave a Comment