इस देश में है दुनिया का अनोखा चिड़ियाघर, जहां इंसान रहते हैं पिंजरे में और जानवर घूमते हैं आजाद

इस देश में है दुनिया का अनोखा चिड़ियाघर, जहां इंसान रहते हैं पिंजरे में और जानवर घूमते हैं आजाद – हमने जानवरों के बारे में देखने और जानने के लिए कई चिड़ियाघरों या वन्यजीव पार्कों की यात्रा की है। इन स्थानों पर, आपने जानवरों को बाड़ों या पिंजरों में बंद देखा होगा। लेकिन आप यह जानकर चौंक जाएंगे कि दुनिया में एक ऐसा चिड़ियाघर है जहां इंसान जानवरों की जगह पिंजरे में बंद हैं। इस चिड़ियाघर में, जानवर स्वतंत्र रूप से घूमते हैं। यह विचित्र लग सकता है, लेकिन यह सच है।

इस चिड़ियाघर में, पर्यटकों को जानवरों के बजाय पिंजरे में कैद किया जाता है

चीन में एक चिड़ियाघर है जिसे लेहे लेदु वन्यजीव चिड़ियाघर कहा जाता है। जानवर स्वतंत्र रूप से घूमते हैं, और जो लोग वन्यजीव जानवरों को देखने आते हैं उन्हें पिंजरे में बंद कर दिया जाता है। चीन के चोंगकिंग में विचित्र चिड़ियाघर 2015 में खोला गया था। लेहे लेडु वाइल्डलाइफ जू के नाम पर, लोगों को जानवरों के करीब जाने का एक अनूठा अवसर मिलता है।

पर्यटक अपने हाथों से जानवरों को भी खिला सकते हैं। मनुष्यों से भरे पिंजरों को जानवरों के आसपास पहुंचाया जाता है। पर्यटक पर्यटकों द्वारा उन्हें दिए जाने वाले भोजन के लालच में पिंजरे के करीब आते हैं। कभी-कभी वे पिंजरे के ऊपर चढ़ जाते हैं। हालांकि, इस चिड़ियाघर में पर्यटकों को सुरक्षा के बारे में सख्त निर्देश दिए गए हैं। लेकिन, इसके अलावा, सुरक्षा के कड़े इंतजाम हैं।

लोग अपने बच्चों को चिड़ियाघर और सर्कस दिखाने ले जाते हैं | मगर बचपन से ही मुझे पिंजरे में क़ैद जानवरों को चाबुक के ज़ोर पर नाचते देखने में कोई दिलचस्पी नहीं रही है | आज जब मैं थोड़ा बड़ा हो गया हूँ तो समझ आया है कि जानवरों को पिंजरे में क़ैद करके उनकी आज़ादी छीनना कितना ग़लत है | क्या जानवरों को भी हमारी ही तरह आज़ाद घूमने का अधिकार नहीं है फिलहाल ये मुद्दा काफ़ी चर्चा का विषय रहा है , और रहना भी चाहिए |

आप खुद सोचिए, क्या ये दरिंदगी का काम नहीं है

जानवरों को ज़िंदगी भर के लिए छोटे-छोटे पिंजरों में क़ैद रखना, जहाँ वे ज़िंदगीभर ना खुल कर दौड़ सकते हैं, ना शिकार कर सकते हैं, ना खुली हवा में साँस ले सकते हैं वो भी सिर्फ़ हमारे मनोरंजन के लिए

जो लोग मेरी इस बात से सहमत हैं, उन्हें जान कर खुशी होगी कि चीन के एक चिड़ियाघर ने इंसानों को प्रकृति और जानवरों के करीब लाने की कोशिश की है, वो भी बिना जानवरों को बंदी बनाए |

2015 से बना फेमस डेस्टिनेशन

वर्ष 2015 के बाद से इस चिडि़याघर के प्रशासन ने स्‍थानीय निवासियों और पर्यटकों के लिए यहां के दरवाजे खोल दिए। उसके बाद से हर साल यहां आने वाले पर्यटकों की तादाद बढ़ती जा रही हैं।

ताकि जानवर रहे आजाद

इस जू प्रशासन का इसके पीछे यह उद्देश्‍य है कि इंसान जानवरों की वन्‍य जीवन के बारे में जागरुक हो सकें और य‍ह वन्‍य प्राणी आराम से आजाद होकर घूम सकें।

गाड़ी पर चढ़ जाते हैं

जब पिंजरे वाली गाड़ी में भर कर इंसानों के जानवरों के पास ले कर जाते है तो उस समय का दृश्य काफी खतरनाक होता है। खाने के लालच में जानवर पिंजरे के ऊपर चढ़ जाते है।

ये जानवर है इस जू में

यहां पर शेर, बंगाल टाइगर, सफेद बाघ, भालू आदि जानवरों को अपने हाथों से चिकन आदि खिला सकते हैं। इस चिड़ियाघर में इंसानों को उस वक्त की फिलिंग करवाई जाती है।

लेहे लेदू वाइल्डलाइफ़ ज़ू,चीन

लेहे लेदू वाइल्डलाइफ़ ज़ू में बाघ, भालू और ऐसे ही अन्य जानवर खुले घूमते हैं और इन्हें देखने आने वाले लोगों को पिंजरे में रखा जाता है | इस तरह से लोग इन बड़े जानवरों को अपने प्राकृतिक परिवेश में खुले घूमते देख पाते हैं, और दुनिया के ज़्यादातर चिड़ियाघरों की तरह जानवरों को छोटे-छोटे पिंजरों में क़ैद करके रखने की भी ज़रूरत नहीं पड़ती |

चिड़ियाघर के स्पोक्स्पर्सन चान लांग का मानना है इस चिड़ियाघर के ज़रिए बड़े और ख़तरनाक जानवरों को देखने आने वाले लोगों की सुरक्षित तौर पर उन्हें एक ऐसी जगह लाना चाहते थे, जहाँ वे इस जानवरों को बेहद करीब से देख पाएँ |

इस ज़ू में लोगों को एक पिंजरेनुमा ट्रक में बिठाकर चिड़ियाघर की सैर करवाई जाती है। इस टूर को रोमांचक बनाने के लिए पिंजरे से ही माँस के टुकड़े लटका दिए जाते हैं जिसे देखकर शेर और बाघ पिंजरे के बेहद करीब आ जाते हैं। इतनी करीबी से इन खतरनाक जानवरों को देखना जितना अद्भुत होता है उतना ही दिल दहलाने वाला भी।

अगर आप भी ऐसे अनुभव के दीवाने हैं, फटाफट चीन के इस अनोखे चिड़ियाघर की टिकट बुक करा लें। पहले ही बता दूँ, यहाँ महीनों पहले ही बुकिंग फुल हो जाती है।

Conclusion:- दोस्तों आज के इस आर्टिकल में हमने भारत की ऐसी खास जगह जहां मिलाता है फ्री में भरपेट स्वादिष्ट खाना के बारे में विस्तार से जानकारी दी है। इसलिए हम उम्मीद करते हैं, कि आपको आज का यह आर्टिकल आवश्यक पसंद आया होगा, और आज के इस आर्टिकल से आपको अवश्य कुछ मदद मिली होगी। इस आर्टिकल के बारे में आपकी कोई भी राय है, तो आप हमें नीचे कमेंट करके जरूर बताएं।

यह भी पढ़ें:- भारत की ऐसी खास जगह जहां मिलाता है फ्री में भरपेट स्वादिष्ट खाना

अगर हमारे द्वारा बताई गई जानकारी अच्छी लगी हो तो आपने दोस्तों को जरुर शेयर करे tripfunda.in आप सभी का आभार परघट करता है {धन्यवाद}

Leave a Comment