Kedarnath Yatra Tips: केदारनाथ जा रहे हैं तो भूलकर भी ना करें ये गलतियां, पड़ जाएगा भारी

Kedarnath Yatra Tips: केदारनाथ जा रहे हैं तो भूलकर भी ना करें ये गलतियां, पड़ जाएगा भारी

Kedarnath Yatra Tips: केदारनाथ जा रहे हैं तो भूलकर भी ना करें ये गलतियां, पड़ जाएगा भारी :- केदारनाथ मंदिर हिंदुओं के मुख्य तीर्थस्थानों में से एक है यह मंदिर भारत के उत्तराखंड राज्य में स्थित है हर साल लाखों श्रद्धालु केदारनाथ मंदिर में भगवान शिव के दर्शन के लिए अलग-अलग राज्यों से जाते हैं यह मंदिर काफी ऊंचाई पर स्थित है इसलिए मौसम को देखते हुए मंदिर के कपाट अप्रैल से नवंबर के बीच ही खोले जाते हैं इसके बाद भारी बर्फभारी के चलते मंदिर के कपाट श्रद्धालुओं के लिए बंद कर दिए जाते हैं

केदारनाथ जा रहे हैं तो भूलकर भी ना करें ये गलतियां

  • 3 मई 2022 को केदारनाथ धाम के कपाट खोले गए कोरोना महामारी के चलते पूरे दो साल के बाद केदारनाथ धाम की यात्रा शुरू हुई तो भक्तों की भीड़ ने सारे रिकॉर्ड तोड़ दिए | अगर आप केदारनाथ धाम यात्रा की प्लानिंग कर रहे हैं तो कुछ बातों का खास ख्याल रखना जरूरी है आइए जानते हैं केदारनाथ यात्रा पर जाते समय आपको क्या करना चाहिए और किन गलतियों से बचना चाहिए |
  • केदारनाथ धाम जाने का प्लान कर रहे हैं तो इस बात का ध्यान रखें कि बहुत ज्यादा सर्दियों में और मॉनसून के मौसम में जाने से बचें पहाड़ी क्षेत्रों में मॉनसून के दौरान बाढ़ या भूस्खलन का खतरा काफी ज्यादा होता है ऐसे में इस दौरान यात्रा का प्लान ना बनाएं यात्रा पर जाते समय इस बात का ख्याल रखें कि अपने साथ सर्दियों के कपड़े जरूर लेकर जाएं, भले ही आप गर्मियों के मौसम में जा रहे हों |
  • पहाड़ों में बारिश कभी भी हो सकती है, ऐसे में यात्रा पर जाते समय अपने पास छाता, रेनकोट जरूर रखें एक नॉर्मल व्यक्ति को गौरीकुंड से केदारनाथ धाम जाने में कुल 5-6 घंटे का समय लगता है तो जल्दबाजी के बजाय आराम से चलें चलने के दौरान भगदड़ ना करें वरना आपंको सांस लेने में दिक्कत का सामना करना पड़ सकता है |
  • अपनी यात्रा की शुरुआत सुबह जल्दी करें ताकि दिन तक आप आराम से केदारनाथ धाम पहुंच सके दर्शन के बाद यहां एक रात आराम करें और अगले दिन फिर सुबह गौरीकुंड के लिए वापसी की यात्रा शुरू करें |
  • ध्यान रखें कि अगर आप दर्शन, चढ़ाई और वापसी एक ही दिन में करने की सोच रहे हैं तो आप शाम तक या रात तक वापस गौरीकुंड पहुंच जाएंगे, लेकिन आपको गौरीकुंड से सोनप्रयाग में दिक्कत हो सकती है. रात के समय गौरीकुंड से सोनप्रयाग के लिए गाड़ियों में सीट मिलने में काफी दिक्कत का सामना करना पड़ता है. साथ ही गौरीकुंड में बहुत कम होटल या लॉज होने के कारण यहां रूम ढूंढ़ने में आपको दिक्कत हो सकती है |
  • केदारनाथ यात्रा के दौरान 12 साल से कम उम्र के बच्चों को कभी भी साथ ना लेकर जाएं. यहां मौसम का कुछ पता नहीं होता इसके अलावा, यहां ऑक्सीजन लेवल भी काफी कम होता है जिससे बच्चों की तबीयत खराब होने का डर रहता है|
  • अगर आप केदारनाथ धाम तक बिना कष्ट के पहुंचना चाहते हैं तो आप डोली पर बैठकर जा सकते हैं जिसका किराया 8 से 10 हजार रुपए के बीच होता है वहीं, कंडी के राउंड ट्रिप का किराया करीब 5 हजार रुपएं है और खच्चर के राउंड ट्रिप का किराया 5 से 6 हजार रुपए है अगर आप हेलीकॉप्टर से जाने की सोच रहे हैं तो इसका किराया करीब 7 हजार रुपए है |

यह भी पढ़ें:- नेपाल में रोज 45 मिनट पीछे करनी पड़ती है घड़ी की सुई, यहां की ऐसी दिलचस्प बातें डाल देंगी दुविधा में

केदारनाथ धाम यात्रा से जुड़ी सामान्य जानकारी

  • ऊंचाई- समुद्र तल से 3,553 मीटर ऊपर
  • यात्रा का सही समय- गर्मियों में (मई-जून), सर्दियों में (सितंबर-अक्टूबर)
  • नजदीकी एयरपोर्ट- देहरादून जौलीग्रांट एयरपोर्ट
  • नजदीकी रेलवे स्टेशन- देहरादून रेलवे स्टेशन
  • केदारनाथ ट्रेकिंग डिस्टेंस- 14 से 18 किलोमीटर (एक साइड)

बस से कैसे पहुंचे केदारनाथ

  • दिल्ली से केदारनाथ के लिए कोई डायरेक्ट बस नहीं है इसके लिए आपको सबसे पहले कश्मीरी गेट अंतर्राज्यीय बस अड्डे से हरिद्वार या ऋषिकेश के लिए बस लेनी होगी रोडवेज बस का किराया 300 रुपए है लेकिन आप चाहें तो प्राइवेट बस भी ले सकते हैं ऋषिकेश पहुंचने के बाद आपको यहां से सोनप्रयाग के लिए बस लेनी होगी सोनप्रयाग के लिए बस आपको सुबह जल्दी लेनी पड़ेगी |
  • आप अगर सोनप्रयाग के लिए सुबह जल्दी बस लेते हैं तो शाम तक आप वहां पहुंच जाएंगे इसके बाद गौरीकुंड जाने के लिए सोनप्रयाग से आपको शेयरिंग टैक्सी मिल जाएंगी सोनप्रयाग से गौरीकुंड की दूरी 8 किलोमीटर है गौरीकुंड पहुंचने के बाद आपको केदारनाथ धाम के लिए पैदलयात्रा करनी होगी |

Conclusion:- दोस्तों आज के इस आर्टिकल में हमने Kedarnath Yatra Tips: केदारनाथ जा रहे हैं तो भूलकर भी ना करें ये गलतियां, पड़ जाएगा भारी के बारे में विस्तार से जानकारी दी है। इसलिए हम उम्मीद करते हैं, कि आपको आज का यह आर्टिकल आवश्यक पसंद आया होगा, और आज के इस आर्टिकल से आपको अवश्य कुछ मदद मिली होगी। इस आर्टिकल के बारे में आपकी कोई भी राय है, तो आप हमें नीचे कमेंट करके जरूर बताएं।

Leave a Comment