कोरोना के बाद से भूटान अब फिर बुला रहा है सैलानियों को, विदेशियों को तो घूमने के लिए देने होंगे इतने पैसे

जय हिन्द साथियों आज हम बात करेंगे कोरोना के बाद से भूटान अब फिर बुला रहा है सैलानियों को, विदेशियों को तो घूमने के लिए देने होंगे इतने पैसे के बारे में इस आर्टिकल की पूर्ण जानकारी नीचे पॉइंट में बताई गई है तो आप इस आर्टिकल की संपूर्ण जानकारी पढ़े:- कोविड -19 महामारी के दो साल बाद, भूटान 23 सितंबर यानी आज से टूरिस्म की शुरुआत फिर से कर रही है। अक्सर इसे दुनिया के सबसे खुशहाल देशों में से एक के रूप में गिना जाता है, ये देश अपने हरे-भरे नजारों और समृद्ध इतिहास से घिरा हुआ है। जब 2020 में कोविड -19 महामारी ने दुनिया को प्रभावित किया, तो दुनिया भर के कई अन्य देशों की तरह, भूटान ने भी अपने लोगों को इससे प्रभावित होने से रोकने के लिए अपनी सीमाओं को बंद कर दिया था। लेकिन अब खुशी की बात ये है कि अब ये देश फिर से पर्यटकों का स्वागत रहा है। चलिए आपको इस जगह के बारे में बताते हैं।

विदेशी पर्यटकों के लिए भूटान महंगा

  • भारत से आने वाले लोगों को छोड़कर अन्य देशों से आने वाले पर्यटकों के लिए रोजाना के हिसाब से इस शुल्क को 65 अमेरिकी
  • डॉलर से बढ़ाकर 200 अमेरिकी डॉलर कर दिया गया है।
  • इंटरनेशनल पर्यटकों के लिए भूटान जाना पहले की तुलना में काफी महंगा हो चुका है।
  • पहले विदेशियों को भूटान में घूमने पर एक दिन का करीबन 200 से 250 अमेरिकी डॉलर खर्चा आता था
  • जिसमें 65 डॉलर का विकास शुल्क शामिल था।
  • अब भूटान सरकार को दिया जाने वाला विकास शुल्क ही 200 अमेरिकी डॉलर है।
  • अब आप खुद देख सकते हैं, विदेशियों के लिए भूटान जाना महंगा हो चुका है।

थिम्पू

  • भूटान की राजधानी होने के कारण थिम्फू देश में एक लोकप्रिय स्थल है।
  • ये हिमालय पर्वतों की ऊंची पर्वतमालाओं में स्थित है, जहां का अद्भुत नजारा लोगों एक अलग ही नजारा पेश करता है।
  • यह एक सांस्कृतिक केंद्र भी है, जहां आपको प्राचीन आकर्षण देखने को मिल जाएंगे।
  • थिम्फू में घूमने के लिए काफी कुछ मौजूद है।
  • यहां घूमने की जगहों में सिम्टोखा द्ज़ोंग, डेचेन फोडरंग, ताशिचो द्ज़ोंग, चेरी और टैंगो शामिल हैं।

भारतीयों के लिए भूटान सस्ता

  • अपनी संस्कृति, ऊंचे पहाड़ और सुंदर घाटियों के लिए प्रसिद्ध भूटान हर साल लाखों इंटरनेशनल पर्यटक आते हैं।
  • लेकिन आपको बता दें, विदेशी पर्यटकों के लिए भूटान घूमना पहले की तुलना में काफी महंगा होने वाला है।
  • भूटान सरकार ने पर्यटकों की ओर से मिलने वाली ‘सस्टेनेबल डेवलपमेंट फीस’ में बढ़ोतरी कर दी है।
  • भारत से आने वाले यात्रियों को पहले की ही तरह 1200 रुपए चुकाने पड़ेंगे।
  • भूटान सरकार के अनुसार साल 2019 में 2.30 लाख से ज़्यादा भारतीयों ने यात्रा की थी।

भूटान में घूमने की जगह

  • हरे-भरे पहाड़ों से घिरा पारो भूटान के सबसे लोकप्रिय पर्यटन स्थलों में से एक है।
  • पेल्री गोम्बा, पारो ताकत्सांग, और उग्येन पेल्री पैलेस देश में घूमने के लिए कुछ प्रसिद्ध महल और मठ हैं।
  • पारो अपने शांत और शांतिपूर्ण माहौल के लिए जाना जाता है।
  • पारो एक ऐसी जगह है, जहां आप चारों ओर घूमने से आपको भूटान की संस्कृति का पता चलेगा।

जकार

  • चोईखोर घाटी की तलहटी में स्थित जकार देश का एक प्रमुख व्यापारिक केंद्र है।
  • शहर की शांति और साफ हवा आपको यकीनन मंत्रमुग्ध कर देगी।
  • जकार द्ज़ोंग भूटान में सबसे बड़ा द्ज़ोंग (गढ़वाले मठ का विशिष्ट प्रकार) है।
  • शहर के आसपास घूमने के लिए अन्य स्थानों में बुमथांग ब्रेवरी, चीज़ फैक्ट्री, लोद्रक खारचू गोम्बा और वांगडीचोलिंग पैलेस शामिल हैं।
  • इस डेस्टिनेशन के लिए पास का हवाई अड्डा बाथपालथांग हवाई अड्डा है।

Read Also

  1. गाजियाबाद की ये डरावनी जगहें कई दिलचस्प कहानियों के लिए हैं फेमस
  2. झुमरी तलैया: नाम तो सुना ही होगा यहां घूमने के लिए हैं कई अद्भुत जगहें
  3. बिहार राज्य की खूबसूरती में चार-चांद लगाते हैं यह वाटरफॉल

Conclusion:- मित्रों आज के इस आर्टिकल में कोरोना के बाद से भूटान अब फिर बुला रहा है सैलानियों को, विदेशियों को तो घूमने के लिए देने होंगे इतने पैसे के बारे में कभी विस्तार से बताया है। तो हमें ऐसा लग रहा है की हमारे द्वारा दी गये जानकारी आप को अच्छी लगी होगी तो इस आर्टिकल के बारे में आपकी कोई भी राय है, तो आप हमें नीचे कमेंट करके जरूर बताएं।

Leave a Comment