मुंबई से लेह लद्दाख जाने के लिए चुनें ये तरीके, आसानी से पहुंच जाएंगे डेस्टिनेशन तक

सड़क मार्ग से जुड़ी अन्य जानकारी

मुंबई से लेह लद्दाख जाने के लिए चुनें ये तरीके, आसानी से पहुंच जाएंगे डेस्टिनेशन तक – मुंबई से लेह लद्दाख जाने के लिए चुनें ये तरीके, आसानी से पहुंच जाएंगे डेस्टिनेशन तक अगर आप मुंबई में रहते हैं, तो लद्दाख आपकी डेस्टिनेशन विशलिस्ट में जरूर होना चाहिए। लेह लद्दाख ऐसी जगह है, जहां की खूबसूरती हर किसी को पागल कर देती है। यहां जाने के लिए आपको किसी ग्रुप की जरूरत नहीं है, क्योंकि ये जगह ही आपकी हमसफर बन जाती है। अगर आप भी मुंबई से लेह लद्दाख जाने की प्लानिंग कर रहे हैं, तो इस लेख के जरिए जान लीजिए आप यहां से कैसे इस डेस्टिनेशन तक पहुंच सकते हैं।

हवाई मार्ग से लेह कैसे पहुंचे

लेह लद्दाख जाने का ये सबसे छोटा और आसान रास्ता है। लेह हवाई अड्डा, या कुशोक बकुला रिम्पोची हवाई अड्डा दिल्ली, जम्मू, श्रीनगर, चंडीगढ़ और अन्य शहरों जैसे प्रमुख शहरों से अच्छी तरह से जुड़ा हुआ है। गो एयर मुंबई से लेह के लिए सीधी उड़ान प्रदान करता है। जेट एयरवेज, एयर इंडिया, विस्तारा जैसी अन्य प्रमुख एयरलाइंस दिल्ली के माध्यम से कनेक्टिंग उड़ानें प्रदान करती हैं। महीनों पहले ऑनलाइन बुकिंग करने पर आपको अच्छी छूट मिल सकती है, जहां एक तरफ का किराया 7000 रुपए से शुरू होता है। कभी-कभी बुकिंग पर लगभग रु. 12,000 से 20,000 रुपए लगते हैं। आप अपने होटल या आवास तक जाने के लिए कैब बुक कर सकते हैं।

ट्रेन से लेह कैसे पहुंचे

अगर आप ट्रेन से ट्रैवल कर रहे हैं, तो वेटिंग लिस्ट की परेशानी से बचने के लिए अपने टिकट पहले से बुक कर लें। लद्दाख में कोई रेलवे स्टेशन नहीं है। निकटतम रेलवे स्टेशन जम्मू तवी में है, जो लेह से लगभग 700 किलोमीटर दूर है। मुंबई से ट्रेनें स्वराज एक्सप्रेस और विवेक एक्सप्रेस हैं। ट्रेन के किराए और टिकट की उपलब्धता के लिए आपको कई दिन पहले से आईआरसीटीसी में टिकट की जांच करनी पड़ेगी। जम्मू से लेह पहुंचने के लिए आप जेकेएसआरटीसी बस या निजी बस लेह के लिए ले सकते हैं। जम्मू से लेह पहुंचने के लिए शेयरिंग टैक्सी, जीप या निजी टैक्सी जैसे ऑप्शन भी मौजूद हैं।

सड़क मार्ग से लेह-लद्दाख कैसे पहुंचे

आप मुंबई से फ्लाइट या ट्रेन से मनाली या श्रीनगर पहुंच सकते हैं और फिर बस से लेह के लिए आगे बढ़ सकते हैं। जेकेएसआरटीसी श्रीनगर से लेह के लिए बसें चलाती है, जबकि एचआरटीसी और एचपीटीडीसी मनाली से लेह के लिए बसें चलाती है। एचआरटीसी बसों की सेवाएं बदलने के लिए केलांग में रूकती हैं, जबकि एचपीटीडीसी सेवाएं सीधे लेह जाती हैं। श्रीनगर मार्ग जोजी ला दर्रे से होकर गुजरती हैं, जबकि मनाली मार्ग रोहतांग दर्रे से होकर गुजरती हैं। दोनों बस से यात्रा करने के लिए कठिन लेकिन सुंदर मार्ग हैं।

सड़क मार्ग से जुड़ी अन्य जानकारी

श्रीनगर और मनाली मार्ग आमतौर पर मई के बीच में खुलते हैं और अक्टूबर तक खुले रहते हैं। रास्ते खुले रहने की उपलब्धता के लिए आप ऑनलाइन जाँच कर सकते हैं। अपनी सड़क यात्रा श्रीनगर, चंडीगढ़ या मनाली से शुरू करना परफेक्ट होगा। आप मुंबई से किसी भी शहर तक फ्लाइट या ट्रेन से आसानी से पहुंच सकते हैं। आपको रास्ते में द्रास, कारगिल, केलांग या सरचू में कैम्पिंग करनी होगी, जो आपके द्वारा लिए जाने वाले मार्ग पर निर्भर करती है।

श्रीनगर-लेह रूट

ये रूट 430 किलोमीटर के पार है और भव्य ज़ोजी ला दर्रे से होकर गुजरता है। मार्ग: श्रीनगर – सोनमर्ग – जोजी ला – द्रास – कारगिल – मुलबेख – लामायुरु – सस्पोल – लेह |

यह भी पढ़ें:- दुनिया के 5 सबसे छोटे एयरपोर्ट के बारे में कितना जानते हैं आप

अगर हमारे द्वारा बताई गई जानकारी अच्छी लगी हो तो आपने दोस्तों को जरुर शेयर करे tripfunda.in आप सभी का आभार परघट करता है {धन्यवाद}

Leave a Comment