टेनिस क्रिकेट क्या है

टेबल टेनिस का इतिहास हिंदी में

टेनिस क्रिकेट क्या है – टेनिस क्रिकेट क्या है, टेनिस और लॉन टेनिस में क्या अंतर है, टेनिस मैच में scoring कैसे की जाती है, टेनिस खेल को हिंदी में क्या कहते हैं, टेनिस स्पोर्ट, टेनिस खेल, लॉन टेनिस, टेनिस के नियम, टेनिस टूर्नामेंट 2020, टेबल टेनिस का इतिहास हिंदी में, टेबल टेनिस पर निबंध,

टेनिस क्रिकेट क्या है

टेनिस और टेबल टेनिस दोनों ही रैकेट और बॉल से खेले जाने वाले अत्यंत रोमांचक और प्रतिस्पर्धात्मक खेल हैं जो दुनियां के अधिकांश देशों में लोकप्रिय हैं। दोनों ही खेलों में रैकेट, बॉल, नेट और खिलाडियों की संख्या की को देखा जाय तो एक जैसे लगते हैं किन्तु वास्तव में टेनिस और टेबल टेनिस दो अलग अलग खेल हैं और दोनों की प्रकृति, खेल का तरीका, स्कोरिंग सबकुछ अलग हैं। टेनिस और टेबल टेनिस दोनों ही खिलाडियों की शारीरिक दक्षता के साथ साथ मानसिक दृढ़ता,कॉन्सेंट्रेशन और तीव्र प्रतिक्रियात्मकता की उत्कृष्टता को परखता है अपने इन्ही गुणों की बदौलत खिलाडी अपने श्रेष्ठता को साबित करता है। इस पोस्ट में इन्हीं दो खेलों टेनिस और टेबल टेनिस के बारे में हम पढ़ेंगे और टेनिस और टेबल टेनिस में क्या अंतर है, जानेंगे।

टेनिस एक रैकेट खेल है जिसे व्यक्तिगत रूप से एक प्रतिद्वंद्वी ( एकल ) के खिलाफ या दो खिलाड़ियों की दो टीमों ( युगल ) के बीच खेला जा सकता है । प्रत्येक खिलाड़ी एक टेनिस रैकेट का उपयोग करता है जो एक जाल के ऊपर या उसके आसपास और प्रतिद्वंद्वी के कोर्ट में महसूस की गई एक खोखली रबर की गेंद को मारने के लिए कॉर्ड से बंधा होता है । खेल का उद्देश्य गेंद को इस तरह से संचालित करना है कि प्रतिद्वंद्वी एक वैध रिटर्न खेलने में सक्षम न हो। जो खिलाड़ी गेंद को वापस करने में असमर्थ है, उसे एक अंक नहीं मिलेगा, जबकि विपरीत खिलाड़ी को।

टेनिस –
1. रोजर फेडरर 2012 इंडियन वेल्स
2. रोजर फेडरर एक मार व्यंग भरी 2012 में गोली मार दी
3. सर्वोच्च शासी निकाय अंतर्राष्ट्रीय टेनिस महासंघ
4. पहला खेला 19वीं सदी, इंग्लैंड, यूनाइटेड किंगडम

विशेषताएँ –
1. टीम का सदस्या सिंगल या डबल्स
2. मिश्रित लिंग हां, अलग-अलग टूर और मिश्रित युगल
3. प्रकार आउटडोर या इनडोर
4. उपकरण गेंद , रैकेट , नेट
5. स्थान टेनिस कोर्ट
6. शब्दकोष टेनिस शब्दों की शब्दावली
7. उपस्थिति
8. देश या क्षेत्र दुनिया भर
9. ओलिंपिक 1896 से 1924 तक ग्रीष्मकालीन ओलंपिक कार्यक्रम का हिस्सा
10. 1968 और 1984 के ग्रीष्मकालीन ओलंपिक में प्रदर्शन खेल
11. 1988 से ग्रीष्मकालीन ओलंपिक कार्यक्रम का हिस्सा
12. पैरालम्पिक 1992 से ग्रीष्मकालीन पैरालंपिक कार्यक्रम का हिस्सा
टेनिस एक ओलंपिक खेल है और इसे समाज के सभी स्तरों पर और हर उम्र में खेला जाता है। इस खेल को कोई भी व्यक्ति खेल सकता है जो रैकेट पकड़ सकता है, जिसमें व्हीलचेयर उपयोगकर्ता भी शामिल हैं । टेनिस के आधुनिक खेल में जन्म लिया बर्मिंघम , इंग्लैंड , के रूप में 19 वीं सदी में लॉन टेनिस । इसका विभिन्न क्षेत्र (लॉन) खेलों जैसे क्रोकेट और कटोरे के साथ-साथ पुराने रैकेट खेल के साथ घनिष्ठ संबंध था जिसे आज असली टेनिस कहा जाता है । 19वीं शताब्दी के अधिकांश समय के दौरान, वास्तव में, टेनिस शब्द का संदर्भ वास्तविक टेनिस से था, न कि लॉन टेनिस से।

1890 के दशक के बाद से आधुनिक टेनिस के नियम थोड़े बदले हैं। दो अपवाद हैं कि 1908से 1961 तक सर्वर को हर समय एक पैर जमीन पर रखना पड़ता था, और 1970 के दशक में टाईब्रेक को अपनाना पड़ता था । पेशेवर टेनिस में हाल ही में एक बिंदु-चुनौती प्रणाली के साथ इलेक्ट्रॉनिक समीक्षा तकनीक को अपनाया गया है, जो एक खिलाड़ी को एक बिंदु की लाइन कॉल का मुकाबला करने की अनुमति देता है , एक प्रणाली जिसे हॉक-आई के रूप में जाना जाता है ।

टेबल टेनिस का इतिहास –
टेबल टेनिस को पिंग पांग या व्हिफ व्हाफ्फ भी कहा जाता था। टेबल टेनिस के खेल की शुरुवात विक्टोरियन इंग्लैंड से मानी जाती है जहाँ इसे उच्च वर्गों में डिनर के बाद घर के अंदर खेले जाने की परंपरा थी। 1860 और 1870 के बीच भारत में मिलिट्री अधिकारीयों के द्वारा इसी तरह के एक खेल की शुरुवात की गयी थी जिसे बाद में वे अपने साथ इंग्लैंड ले गए। इस खेल का नाम टेबल टेनिस 1921-22 में रखा गया जब पिंग पांग एसोसिएशन का पुनर्गठन हुआ। 1926 में इंटरनेशनल टेबल टेनिस एसोसिएशन की स्थापना हुई और उसी वर्ष टेबल टेनिस की पहली अंतराष्ट्रीय प्रतियोगिता लंदन में आयोजित की गयी।

टेनिस का खेल –
टेनिस पुरे विश्व में लोकप्रिय एक प्रतिष्ठित और रोमांचक खेल है। यह रैकेट और टेनिस बॉल के साथ खेला जाने वाला एक आउटडोर गेम है जिसे सिंगल या डबल फॉर्मेट में खेला जाता है। टेनिस का खेल दुनिया भर में खेला जाता है और यह ओलिंपिक खेलों की भी एक महत्वपूर्ण स्पर्धा है। टेनिस ग्रास कोर्ट और क्ले कोर्ट दोनों में खेला जाता है। पुरे विश्व में इस खेल के कई टूर्नामेंट आयोजित किये जाते हैं जिनमे ऑस्ट्रेलियन ओपन, विंबलडन, फ्रेंच ओपन और यूएस ओपन सबसे बड़ी और मशहूर टूर्नामेंट हैं। इन्हे ग्रैंड स्लैम कहा जाता है। टेनिस खेलने वाले हर खिलाडी का सपना इन प्रतियोगिताएं में हिस्सा लेना होता है।

विशेष बिंदु शर्तें
खेल बिंदु
टेनिस में एक गेम पॉइंट तब होता है जब गेम में अग्रणी खिलाड़ी को गेम जीतने के लिए केवल एक और पॉइंट की आवश्यकता होती है। शब्दावली को सेट (सेट पॉइंट), मैच (मैच पॉइंट), और यहां तक ​​कि चैंपियनशिप (चैम्पियनशिप पॉइंट) तक बढ़ा दिया गया है। उदाहरण के लिए, यदि सेवारत खिलाड़ी का स्कोर 40-प्यार है, तो खिलाड़ी के पास ट्रिपल गेम पॉइंट (ट्रिपल सेट पॉइंट, आदि) होता है क्योंकि खिलाड़ी के पास गेम जीतने के लगातार तीन मौके होते हैं। गेम पॉइंट, सेट पॉइंट और मैच पॉइंट आधिकारिक स्कोरिंग का हिस्सा नहीं हैं और टूर्नामेंट खेलने में चेयर अंपायर द्वारा घोषित नहीं किए जाते हैं।

विराम बिंदु –
एक ब्रेक पॉइंट तब होता है जब रिसीवर के पास सर्वर नहीं , अगले पॉइंट के साथ गेम जीतने का मौका होता है। ब्रेक पॉइंट का विशेष महत्व है क्योंकि सर्विंग को आम तौर पर लाभप्रद माना जाता है, जिसमें सर्वर से गेम जीतने की उम्मीद की जाती है जिसमें वे सेवा कर रहे हैं। एक रिसीवर जिसके पास एक (30-40 का स्कोर या लाभ), दो (15-40 का स्कोर) या तीन (प्यार-40 का स्कोर) लगातार खेल जीतने की संभावना है , उसके पास ब्रेक पॉइंट , डबल ब्रेक पॉइंट या ट्रिपल ब्रेक पॉइंट है , क्रमशः। यदि रिसीवर वास्तव में अपना ब्रेक पॉइंट जीतता है, तो गेम रिसीवर को दिया जाता है, और कहा जाता है कि रिसीवर ने अपने ब्रेक पॉइंट को बदल दिया है। यदि रिसीवर अपने ब्रेक पॉइंट को जीतने में विफल रहता है तो इसे कन्वर्ट करने में विफलता कहा जाता है । ब्रेक पॉइंट जीतना, और इस प्रकार गेम को ब्रेकिंग सर्व के रूप में भी जाना जाता है , क्योंकि रिसीवर ने सर्वर के प्राकृतिक लाभ को बाधित या तोड़ दिया है। यदि निम्नलिखित गेम में पिछला सर्वर भी एक ब्रेक पॉइंट जीतता है तो इसे ब्रेकिंग बैक कहा जाता है । सिवाय जहां टाईब्रेक लागू होते हैं, एक सेट जीतने के लिए कम से कम एक सर्विस ब्रेक की आवश्यकता होती है

टेनिस की शुरुवात –
टेनिस की शुरुवात उत्तरी फ्रांस से हुई मानी जाती है। 12 वीं शताब्दी में इसे इंडोर गेम के रूप में खेला जाता था। उस ज़माने में इसे jeu de paume कहा जाता था जिसका अर्थ हथेली का खेल होता था। फ्रांस के लुइस टेंथ इस खेल को काफी पसंद करते थे। उन्हें टेनिस के इतिहास का प्रथम ज्ञात खिलाडी माना जाता है। बाद में 19 वीं शताब्दी में इंग्लैंड में इस खेल में कई सुधार हुए और यह एक नए रूप में सामने आया। इसे अब आउटडोर गेम के रूप में खेला जाने लगा। 1874 में विश्व का पहला टेनिस टूर्नामेंट लैमिंग्टन लॉन टेनिस क्लब, बर्मिंघम में खेला गया। यह टूर्नामेंट आल इंग्लैंड टेनिस एंड क्रॉकेट क्लब द्वारा आयोजित प्रथम चैंपियनशिप जो 1877 में हुआ था से तीन वर्ष पहले आयोजित किया गया था।

टेनिस का खेल ग्रास कोर्ट या क्ले कोर्ट में खेला जाता है। इसे खेलने के लिए रैकेट और बॉल की आवश्यकता होती है। टेनिस का रैकेट तारों से बुना हुआ होता है और बॉल रबर की बानी हुई एक खोखली गेंद होती है। टेनिस के कोर्ट की लम्बाई 78 फ़ीट और चौड़ाई 27 फ़ीट होती है। चौड़ाई डबल्स मुकाबलों में लिए 36 फ़ीट रखी जाती है। टेनिस के बॉल का व्यास 65.41 से 68.58 मिमी के बीच होता है जबकि इसका वजन 56.0 से 59.4 ग्राम के बीच होता है। टेनिस के रैकेट की अधिकतम लम्बाई 29 इंच और चौड़ाई 12.5 इंच होती है। टेनिस के कोर्ट के ठीक बीच में एक जाल बंधा होता है।

टेनिस कैसे खेला जाता है –
टेनिस का खेल सिंगल या डबल्स मुकाबलों में खेला जाता है। सिंगल मुकाबलों में नेट के दोनों ओर एक एक खिलाडी होते हैं जबकि डबल्स में दो दो। कई बार एक महिला और एक पुरुष खिलाडियों के बीच मुकाबला होता है जिसे मिक्स्ड डबल्स कहते हैं। टेनिस खेलते समय बॉल को प्रतिद्वंदी खिलाडी के पाले में हिट किया जाता है जहाँ प्रतिद्वंदी खिलाडी उसे वापस हिट करता है। इस क्रम में गेंद जमीन पर टप्पा खा सकती है किन्तु यदि खिलाडी गेंद वापस दूसरे पाले में भेजने में असफल होता है तो सामने वाले खिलाडी को एक पॉइंट मिल जाता है। टेनिस के खेल में स्कोर लव, 15,30,40 के क्रम में गिना जाता है। तीन सेट के खेल में अधिकतम जीतने वाला खिलाडी विजेता होता है।

टेनिस के टूर्नामेंट –
टेनिस पूरी दुनिया में लोकप्रिय है और दुनिया के लगभग सभी भागों में खेला जाता है। इसको खेलने के लिए काफी दमखम,चुस्ती फुर्ती और मानसिक मजबूती होनी चाहिए। पुरे विश्व में इसकी कई प्रतियोगिताएं खेली जाती हैं जिनमे ऑस्ट्रलियन ओपन, विंबलडन, फ्रेंच ओपन, यूएस ओपन, डेविस कप आदि काफी मशहूर और प्रतष्ठित मानी जाती हैं।

टेबल टेनिस –
टेबल टेनिस दुनिया के सबसे लोकप्रिय इंडोर खेलों में से एक है जिसमे इंडोर गेम होने के बावजूद उच्च शारीरिक दक्षता और चुस्ती फुर्ती की आवश्यकता पड़ती है। टेबल टेनिस जैसा कि नाम है एक बड़े से टेबल के दोनों ओर छोटे बल्ले या रैकेट और एक छोटी किन्तु खोखली बॉल से एकल या युगल मुकाबलों में खेला जाता है। टेबल टेनिस दुनिया में अधिकांश देशों में खेला जाता है। यूरोप और एशिआ में खासकर चीन और जापान में तो यह खेल काफी प्रतिस्पर्धात्मक और उच्च संघटनात्मक खेल माना जाता है।

टेबल टेनिस के रैकेट और टेबल की माप –
टेबल टेनिस का खेल एक बड़े टेबल के दोनों ओर खेला जाता है। इस टेबल की ऊंचाई 30 इंच, लम्बाई 9 फ़ीट और चौड़ाई 5 फ़ीट होती है। टेबल के मध्य में एक नेट होता है जिसकी ऊंचाई 15.25 सेमी (करीब 6 इंच) होती है। टेबल टेनिस जिस बॉल से खेला जाता है उसका वजन 2.7 ग्राम और व्यास 40 मिमी होता है। टेबल टेनिस का रैकेट लकड़ी का बना होता है जिसपर एक कवर चढ़ा होता है। टेबल टेनिस के रैकेट को कई नामों से पुकारते हैं ब्रिटैन में जहाँ इसे बैट कहा जाता है वहीँ अमेरिका और कनाडा में पैडल कहा जाता है।

टेबल टेनिस कैसे खेला जाता है –
टेबल टेनिस सिंगल और डबल्स मुकाबलों में खेला जाता है। टेबल टेनिस के खेल में पांच सेट के खेल में तीन सेटों को जीतने वाला विजेता होता है और हर गेम को जीतने के लिए 11 पॉइंट्स जुटाने होते हैं। सेट जीतने के लिए जीतने वाले खिलाडी का प्रतिद्वंदी खिलाडी से कम से कम दो पॉइंट्स का अंतर होना चाहिए।
टेबल टेनिस के टूर्नामेंट

टेबल टेनिस एक इंडोर गेम है जिसमे खिलाडी के दमखम, चुस्ती फुर्ती और उच्च कंसन्ट्रेशन के साथ साथ त्वरित प्रतिक्रिया करने की क्षमता का आकलन होता है। विश्व में टेबल टेनिस की कई स्पर्धाएं आयोजित की जाती हैं जिनमे वर्ल्ड टेबल टेनिस चैंपियनशिप, टेबल टेनिस वर्ल्ड कप, ओलिंपिक खेल, ITTF वर्ल्ड टूर, यूरोपियन चैंपियनशिप आदि मुख्य हैं।

टेनिस और टेबल टेनिस में क्या अंतर है –
1. टेनिस एक आउटडोर गेम है जबकि टेबल टेनिस एक इंडोर गेम है।
2. टेनिस की शुरुवात फ्रांस से मानी जाती है जबकि टेबल टेनिस का जन्म इंग्लैंड में हुआ था।
3. टेनिस को पहले jeu de paume के नाम से जाना जाता था वहीँ टेबल टेनिस को पिंग पांग या व्हिफ व्हॉफ के नाम से जाना जाता है।
4. टेनिस का खेल ग्रास या क्ले कोर्ट में खेला जाता है जबकि टेबल टेनिस का खेल लकड़ी या किसी हार्ड सतह वाले टेबल पर खेली जाती है।
5. टेनिस का कोर्ट 78 x 36 वर्ग फ़ीट का होता है जबकि टेबल टेनिस 9 x 5 वर्ग फ़ीट के टेबल पर खेला जाता है।
6. टेनिस का रैकेट जालीदार होता है जो तारों से बुना हुआ होता है वहीँ टेबल टेनिस का रैकेट सपाट लकड़ी का बना होता है जिसपर रबर का एक कवर चढ़ा होता है।
7. टेनिस की स्कोरिंग लव, 15, 30, 40 से की जाती है वहीँ टेबल टेनिस में 1, 2, 3 से पॉइंट्स गिने जाते हैं।
8. टेनिस में कलाइयों का प्रयोग बहुत ही कम होता है वहीँ टेबल टेनिस में कलाइयों का खूब प्रयोग होता है।
9. टेनिस में बॉल को हिट करते समय टप्पा खिलाना आवश्यक नहीं है किन्तु टेबल टेनिस में बॉल का टेबल को हिट करना आवश्यक होता है।

खेल से संबंधित लिस्ट
Subscribe  Telegram Channel  Subscribe   YouTube  Channel 
Follow On Instagram Like Facebook Page 
हेलो दोस्तों आपको हमारी यह पोस्ट कैसे लगी आप कमेंट के माध्यम से जरूर बताएं अगर आप इस पोस्ट से संबंधित कुछ पूछना चाहते हो तो आप नीचे कमेंट बॉक्स जरूर बताएं

Leave a Comment