हुमायूँ कौन थे

tripfunda.in

हुमायूँ को वास्तव में कठिनाइयाँ अपने पिता से ही विरासत के रूप में मिली थी

tripfunda.in

प्रारंभ में बाबरके प्रमुख मंत्री निजामुद्दीन अली खलीफा हुमायूँ को अयोग्य समझकर बाबर के बहनोई मेहदी ख्वाजा को गद्दी पर बैठाना चाहता था

tripfunda.in

– गुलबदन बेगम का 'हुमायूंनामा' एक महत्त्वपूर्ण कृति है

tripfunda.in

– यह बाबर और हुमायूं के शासनकाल का एकमात्र विवरण है

tripfunda.in

– वह भी मुगल शाही खानदान की एक प्रमुख महिला द्वारा लिखा गया है

tripfunda.in

गुलबदन बेगम का जन्म सन् 1523 के लगभग काबुल में हुआ था उनकी मां दिलदार बेगम थीं

tripfunda.in

लेकिन उनका पालन-पोषण हुमायूं की मां माहम बेगम ने किया इसलिए गुलबदन बेगम का हुमायूं के प्रति विशेष लगाव रहा

tripfunda.in

जो इस विवरण में दिखाई देता है उनका सगा भाई हिंदाल था

tripfunda.in

इस वेब स्टोरी से संबंधित संपूर्ण जानकारी के लिए आप नीचे दिए गए Learn More पर क्लिक  करके पूरी जानकारी पढ़े

tripfunda.in