महाराजा अजीत सिंह कौन थे

अजीत सिंह मारवाड़ के राजा जसवंत सिंह का पुत्र था उसका जन्म 1679 ई. में लाहौर में हुआ

उसके जन्म से पहले ही उसके पिता की मृत्यु हो चुकी थी

कुछ समय पश्चात् अजीत सिंह को दिल्ली लाया गया जहाँ पर मुग़ल बादशाह औरंगज़ेब उसे मुस्लिम बना लेना चाहता था

राठौर सरदार दुर्गादास बड़े साहस के साथ अजीत सिंह को दिल्ली से निकाल कर मारवाड़ ले गया

मारवाड़ पर अपने शासन की स्थापना को मजबूत करने के बाद अजीत सिंह उतनी तेजी से साहसी हो गये

मुगल वंश की भूमि पर कब्जा कर लिया मुगलों के शिविरों पर हमला करने लगे

इसके अलावा कई शहरों और किलों पर कब्जा कर लिया गया

फिर भी मुगलों के लिए सबसे बड़ा प्रहार सांभर पर हुआ जो नमक बनाने की दृष्टि से महत्वपूर्ण स्थान था

इस वेब स्टोरी से संबंधित संपूर्ण जानकारी के लिए आप नीचे दिए गए Learn More पर क्लिक  करके पूरी जानकारी पढ़े