मेवाड़ का पहला राजा कौन था

मेवाड़ रियासत राजस्थान की सबसे प्राचीन रियासत है

इसे मेदपाट, प्राग्वाट, शिवि जनपद आदि उपनामों से जाना जाता है

मेवाड़ का गुहिल वंशी राजघराना एकलिंगजी (शिव) का उपासक था

मेवाड़ के महाराणा राजधानी छोड़ने से पहले एकलिंगजी से आज्ञा लेते थे

गुहिल वंश के राजध्वज पर 'उगता सूरज एवं धनुष बाण' अंकित है

ये शब्द उनके स्वतंत्रता, प्रियता एवं धर्म पर दृढ रहने के सकते देते है

मेवाड़ में 1877 में महाराणा के कोर्ट का नाम बदलकर 'इजलास खास' कर दिया गया था

गुहिलादित्य के पिता का नाम शिलादित्य एवं माता का नाम पुष्पावती था।

इस वेब स्टोरी से संबंधित संपूर्ण जानकारी के लिए आप नीचे दिए गए Learn More पर क्लिक  करके पूरी जानकारी पढ़े