विदेशी इमारतों को देखने के लिए पैसे क्यों खर्च करने, भारत में ही हैं मिलती जुलती स्मारकें

– दिल्‍ली में इंडिया गेट बहुत मशहूर है। इसलिए छोटे-छोटे बच्‍चे भी इंडिया गेट के बारे में जानते हैं।

सऩ 1921 में इंडिया गेट को प्रथम विश्‍व युद्ध में लडते हुए शहीद हुए भारतीय सैनिकों के सम्‍मान में बनाया गया था

द आर्क डी ट्रायम्फ उन लोगों के सम्‍मान में बनाया गया था

जो फ्रांसीसी क्रांतिकारी और नेपोलियन युद्धों में फ्रांस के लिए लड़े और मारे गए।

इसकी आंतरिक और बाहरी सतहाें पर सभी फ्रांसीसी और जनरलों के नाम खुदे हुए हैं

जबकि इंडिया गेट के मेहराब पर शहीद हुए 13 हजार से ज्‍यादा ब्रिटिश और भारतीय सैनिकों के नाम खुदे हुए हैं।

र्क डी ट्रायम्फ फ्रांसीसी राष्ट्रीय पहचान का एक प्रतिष्ठित प्रतीक है

– बजकि इंडिया गेट भारत की पहचान है।

इस वेब स्टोरी से संबंधित संपूर्ण जानकारी के लिए आप नीचे दिए गए Learn More पर क्लिक  करके पूरी जानकारी पढ़े