यह विश्व प्रसिद्ध ऐतिहासिक स्थल बिहार के लिए क्यों रखता है खास पहचान, आप भी जानें

यह विश्व प्रसिद्ध ऐतिहासिक स्थल बिहार के लिए क्यों रखता है खास पहचान, आप भी जानें:- नमस्कार मित्रों आज हम बात करेंगे वेस्ट दिल्ली की ये जगहें घूमने के लिए हैं एकदम बेस्ट के बारे में देश का बिहार राज्य किसी एक चीज के लिए नहीं बल्कि कई चीजों के लिए पूरे भारत में फेमस है। बिहार का नाम जिस तरह से लिट्टी-चोखा से जुड़ा हुआ है ठीक उसी तरह भगवान गौतम बुद्ध से भी जुड़ा हुआ है। इस राज्य का इतिहास आज भी लोगों को जानने पर मजबूर कर देता है। बिहार में मौजूद कई ऐतिहासिक स्थल आज भी विश्व स्तर पर प्रसिद्ध है। इन्हीं में से एक है बिहार की राजधानी यानी पटना में मौजूद ‘गोलघर’। इस विश्व प्रसिद्ध स्थल के बारे में कहा जाता है कि इसका जिक्र किए बिना बिहार का इतिहास अधूरा ही रहता है। ऐसे में इस लेख में हम आपको पटना में स्थित इस विश्व प्रसिद्ध गोलघर के बारे में बताने जा रहे हैं। तो आइए हम जानते हैं इस आर्टिकल में विस्तार से.

गोलघर का कब निर्माण हुआ था

  • इस विश्व प्रसिद्ध गोल घर का निर्माण तब के गवर्नर जनरल वारेन हेस्टिंग्स ने गोलघर के निर्माण की योजना बनाई थी
  • इस ऐतिहासिक गोलघर का निर्माण लगभग 20 जनवरी 1784 को शुरू हुआ था
  • इसका कार्य लगभग 20 जुलाई 1786 के आसपास संपन्न हुआ था
  • यह ऐतिहासिक गोलघर लगभग 235 साल प्राचीन हो चुका है

गोलघर बनाने का उद्देश्य क्या था

  • गोलघर को क्यों बनवाया गया था
  • इसके पीछे बेहद ही दिलचस्प कहानी है
  • कि लगभग 1770 के आसपास बिहार राज्य भयंकर सूखे के दौर से गुजर रहा था
  • इस भयंकर सूखे में लगभग करोड़ों लोग भुखमरी के शिकार हुए थे
  • करोड़ों लोग शहर को छोड़कर चले भी गए थे
  • इस भयानक दौर के बाद उस समय के गवर्नर जनरल वारेन हेस्टिंग ने गोलघर के निर्माण की योजना बनाई ताकि अनाज को स्टोर कर जा सकें।

गोलघर की क्या विशेषता

  • गोलघर की मजबूती आज भी कायम है
  • गोलघर की ऊंचाई लगभग 29 मीटर और इसका आकार लगभग 125 मीटर है
  • कि गोलघर की दीवार का आधार लगभग 3.6 मीटर चौड़ी है
  • लगभग 145 सीढियों के सहारे आप इसके उपरी सिरे पर जा सकते हैं
  • जहां से शहर का एक बड़ा हिस्सा देखा जा देख सकते हैं
  • कि उस समय इस गोलघर में लगभग 1,37,000 टन अनाज स्टोर करने की क्षमता थी

गोलघर कहां स्थित है और कैसे पहुंचें

  • यहां आप बहुत आसानी से पहुंच सकते हैं। देश के लगभग सही राज्य से पटना शहर जुड़ा हुआ है
  • ऐसे में आप ट्रेन से पटना रेलवे स्टेशन पहुंचकर यहां से टैक्सी और कैब लेकर जा सकते हैं रेलवे स्टेशन से गोलघर बहुत पास में है
  • हवाई यात्रा के द्वार भी यहां आप पहुंच सकते हैं
  • ऐपोर्ट से लोकल टैक्सी या कैब लेकर पहुंच सकते हैं
  • यह फेमस स्थान गांधी मैदान में मौजूद है

Conclusion:- मित्रों आज के इस आर्टिकल में यह विश्व प्रसिद्ध ऐतिहासिक स्थल बिहार के लिए क्यों रखता है खास पहचान, आप भी जानें के बारे में कभी विस्तार से बताया है। तो हमें ऐसा लग रहा है की हमारे द्वारा दी गये जानकारी आप को अच्छी लगी होगी तो इस आर्टिकल के बारे में आपकी कोई भी राय है, तो आप हमें नीचे कमेंट करके जरूर बताएं। ऐसे ही इंटरेस्टिंग पोस्ट पढ़ने के लिए बने रहे हमारी साइबारिश के मौसम में हर घुमक्कड़ को इन रोड ट्रिप का लुत्फ़ उठाना चाहिएट TripFunda.in के साथ (धन्यवाद)

Leave a Comment