भारत के 10 सबसे अमीर मंदिर

https://tripfunda.in/india-ke-10-sabase-amir-mandir/

भारत के 10 सबसे अमीर मंदिर – विश्व का सबसे धनी मंदिर कौनसा है, भारत में सबसे ज्यादा दान किस मंदिर में आता है, मंदिर का पैसा कहा जाता है, राजस्थान में सबसे ज्यादा चढ़ावा कौन से मंदिर में आता है, भारत के 10 सबसे अमीर मंदिर, भारत के सबसे अमीर मंदिरों की सूची, राजस्थान का सबसे अमीर मंदिर, भारत में कुल कितने मंदिर है,

आइये आज जानते हैं भारत का सबसे अमीर मंदिर कौन सा है दुनिया भर में इंडिया अपने भव्य और विशाल मंदिरों के लिए जाना जाता है। विश्व के किसी देश में शायद ही इतने मंदिर होंगे जितने भारत में हैं और इसकी मुख्य वजह आस्था है। ज्यादातर भारतीय लोग हिंदूवादी हैं और अपने भगवान में इसकी गहरी आस्था रखते हैं। वह भगवान के लिए कुछ भी करने से पीछे नहीं हटते है। हिंदू आस्तिक लोग अपने भगवान को प्रसन्न करने हेतु दान करते हैं और इसी दान की वजह से आज कई ऐसे मंदिर सामने आये हैं। जिनमें हर साल करोड़ों रुपयों का चढ़ावा होता है। इस तरह ये टेम्पल अमीर मंदिरों की श्रेणी में आते हैं।

वैसे अगर आप सोच रहे हैं कि मंदिरों के देश भारत में ही दुनिया का सबसे बड़ा मंदिर होगा तो ऐसा बिल्कुल नहीं है। जी हां विश्व का सबसे बड़ा मंदिर कंबोडिया देश में स्थित है। कम्बोडिया में अंकोरवाट यानी भगवान विष्णु जी का विशाल टेम्पल है जो 8 लाख 20 हजार वर्ग मीटर में फैला हुआ है। हालाकि अब यहाँ हिंदुओं की संख्या न के बराबर हैं ऐसे में इस मंदिर को अब सिर्फ शैलानी ही देखने आते हैं। ऐसा माना जाता है कि इस टेम्पल का निर्माण 1112 ईस्वी में राजा सूर्यवर्मन द्वितीय के दौर में किया गया था। तो चलिए अब आपको भारत के सबसे रिचेस्ट टेम्पल के बारे में बताते हैं।

आपको बता दे कि भारत का सबसे अमीर मंदिर पद्मनाभस्वामी मंदिर है। जो केरल के प्रसिद्ध शहर तिरुवनंतपुरम में स्थित है। यह न सिर्फ भारत बल्कि विश्व का सबसे अमीर टेम्पल माना जाता है। लोग अनुमान लगाते है कि पद्मनाभस्वामी टेम्पल में 1 खरब डॉलर की संपत्ति मौजूद है। हालही में जब टेम्पल के अंदर का वाल्व खोला गया तो ऐसा लगा जैसे हीरे और सोने चांदी की बाढ़ आ गयी हो।

भारत में मंदिर देश की समृद्ध धार्मिक विरासत को दर्शाते हैं। देशभर में 500,000 से अधिक मंदिर हैं, जिनमें से कई को अत्यधिक आस्था और चमत्कार के रूप में जगह दी गई है। भारत में हिन्दुओं की आस्था मंदिर में विराजमान भगवान से इस कदर जुड़ी हुई है कि वो अपनी इच्छाओं को पूरा करवाने के लिए कुछ भी करने को तैयार रहते हैं। यही कारण है कि भक्त अपनी श्रद्धा और भक्ति के लिए मंदिरों में लाखों रुपए, सोना, चांदी आदि दान करते हैं। आज हम आपको इस लेख में उन मंदिरों के बारे में बताने वाले हैं जिनकी गिनती भारत के सबसे अमीर मंदिरों में की जाती है।

1. त्रिवेंद्रम में पद्मनाभ स्वामी मंदिर –
पद्मनाभ स्वामी मंदिर भारत का सबसे अमीर मंदिर है। ये मंदिर तिरुवनंतपुरम् शहर के बीच स्थित है। इस मंदिर की देखभाल त्रावणकोर के पूर्व शाही परिवार द्वारा की जाती है। केरल के तिरुवनंतपुरम में स्थित, इसके खजाने में हीरे, सोने के गहने और सोने की मूर्तियां शामिल हैं। एक रिपोर्ट के अनुसार, मंदिर की 6 तिजोरियों में कुल 20 अर्ब डॉलर की संपत्ति है। यही नहीं, मंदिर के गर्भग्रह में भगवान विष्णु की बहुत बड़ी सोने की मूर्ती विराजमान है, जिसकी कीमत 500 करोड़ रुपए है।

2. आंध्रप्रदेश में तिरूपति बालाजी का मंदिर –
सूची में दूसरे स्थान पर आंध्र प्रदेश का तिरुपति मंदिर है। भारत में वैष्णव संप्रदाय का मंदिर, तिरुपति दान के मामले में दुनिया का सबसे अमीर मंदिर है। इस मंदिर की वास्तुकला देखने लायक है। भक्त यहां हर साल लगभग 600 करोड़ रुपये दान के रूप में देते हैं। तिरूपति मंदिर भगवान वेंकटश्वर को समर्पित है, जिन्हें विष्णुजी का अवतार माना जाता है। ये मंदिर समुद्र तल से 2800 फिट की ऊंचाई पर स्थित है। शायद आप ये बात जानते न हो कि वर्ष 2010 में तिरुमाला तिरुपति मंदिर ने भारतीय स्टेट बैंक के पास ब्याज के लिए 1175 किलो सोना जमा था। मंदिर में एकता कपूर और बच्चन परिवार जैसे अमीर और प्रसिद्ध भक्त दर्शन करने के लिए यहां आते हैं। बहुत दिलचस्प बात यह है कि बाल मुंडन, जो इस मंदिर के आवश्यक अनुष्ठानों में से एक है, भी एक महत्वपूर्ण राजस्व उत्पन्न करने वाली गतिविधि है।

3. शिरडी में सांई बाबा मंदिर –
सूची में तीसरे स्थान पर शिरडी, महाराष्ट्र में साईंबाबा मंदिर है। रिपोर्टों के अनुसार, मंदिर के बैंक खाते में 380 किलो सोना, 4,428 किलो चांदी और डॉलर और पाउंड जैसी विदेशी मुद्राओं के रूप में बड़ी मात्रा में धन के साथ-साथ लगभग 1,800 करोड़ रुपये हैं। 2017 में रामनवमी के अवसर पर एक अज्ञात भक्त द्वारा 12 किलो सोना दान किया गया था। साथ ही, हर साल लगभग 350 करोड़ का दान आता है।

4. जम्मू में वैष्णो देवी मंदिर –
वैष्णो देवी मंदिर को देश के सबसे पवित्र स्थानों में से एक माना जाता है। भारत में मान्यता प्राप्त शक्ति पीठ मंदिरों में से एक है। ट्रैवल गाइड टूर माई इंडिया के अनुसार, इस मंदिर से हर साल ₹500 की वार्षिक आय होती है, जो इसे देश के सबसे धनी मंदिरों में से एक बनाती है। प्रियंका चोपड़ा, कंगना रनौत और दीपिका पादुकोण जैसी बॉलीवुड हस्तियां इस पवित्र मंदिर में दर्शन करने के लिए आते हैं।

5. मुंबई में सिद्धिविनायक मंदिर –
भगवान गणेश को समर्पित, मुंबई में सिद्धिविनायक मंदिर देश के सबसे प्रसिद्ध मंदिरों में से एक है। बॉलीवुड के मशहूर हस्तियों से लेकर बिजनेस टायकून तक, यहां कई मशहूर हस्तियां देखी जाती हैं। ऐसा माना जाता है कि गणपति जितनी जल्दी प्रसन्न होते हैं उतनी ही जल्दी कुपित भी होते हैं। आपको बता दें इस मंदिर को 3.7 किलोग्राम सोने से कोट किया गया है, जिसे कोलकाता के एक व्यापारी ने दान किया था। रिकॉर्ड के अनुसार, मंदिर सालाना लगभग 125 करोड़ कमाता है, जिसमें अमीर देशवासियों द्वारा किया गया भारी दान भी शामिल है।

6. गुजरात में सोमनाथ मंदिर –
गुजरात का सोमनाथ मंदिर सोमनाथ मंदिर हमेशा देश के सबसे अमीर मंदिरों में से एक रहा है, यही वजह है कि महमूद गजनी द्वारा सोने और चांदी के संग्रह के लिए इसे 17 बार लूटा गया है। इस मंदिर को आज भी गुजरात में एक समृद्ध मंदिर के रूप में गिना जाता है। यह मंदिर गुजरात के सौराष्ट्र क्षेत्र के वेरावल में बनाया गया है, और यह भगवान शिव के 12 ज्योतिर्लिंग मंदिरों में से एक है। सोमनाथ में हर साल करोड़ों को चढ़ावा आता है। इसलिए ये भारत के अमीर मंदिरों में से एक है।

7. ओडिशा के पुरी में जगन्नाथ मंदिर –
पुरी में जगन्नाथ मंदिर भारत के सबसे अमीर मंदिरों में से एक है, जिसे देश और यहां तक कि दुनिया के कोने-कोने से अपने भक्तों से भारी मात्रा में दान मिलता है। हालांकि मंदिर की सही संपत्ति के बारे में कोई नहीं जानता, लेकिन अनुमान है कि मंदिर में 100 किलो से अधिक सोने और चांदी के सामान हैं। प्राचीन मंदिर भगवान जगन्नाथ को समर्पित है और हिंदुओं के लिए एक प्रमुख तीर्थस्थल है। इसके अलावा, मंदिर अपने वार्षिक रथ यात्रा उत्सव के लिए भी प्रसिद्ध है। ऐसा कहा जाता है कि मंदिर को यूरोप के अपने एक भक्त से 1.72 करोड़ रुपए दान में मिले थे।

8. साईं बाबा मंदिर, सिर्डी –
साईं बाबा मंदिर, यह मंदिर भारत के मुंबई शहर में स्थित है। इस मंदिर का निर्माण आज से 70 वर्ष पहले किया गया था। इस मंदिर को साईं बाबा के नाम पर बनाया गया है।

जो कि एक मुस्लिम फकीर थे, जो द्वारका नाम की मस्जिद में रहते थे। यह मंदिर 105 एकड़ में फैला हुआ है। और इस मंदिर कि कुल संपत्ति करोड़ों में है। इस मंदिर में हर साल 360 करोड़ तक का दान चढ़ाया जाता है। इस मंदिर में 32 करोड़ के चांदी के जेवर और 6 लाख चांदी के सिक्के इस मंदिर में रखा है।

त्यौहार से संबंधित लिस्ट
Subscribe  Telegram Channel  Subscribe   YouTube  Channel 
Follow On Instagram Like Facebook Page 
हेलो दोस्तों आपको हमारी यह पोस्ट कैसे लगी आप कमेंट के माध्यम से जरूर बताएं अगर आप इस पोस्ट से संबंधित कुछ पूछना चाहते हो तो आप नीचे कमेंट बॉक्स जरूर बताएं

Leave a Comment